Loading...

हिमाचल: दुराचार के आरोपी को 5 वर्ष के कठोर कारावास की सजा, जुर्माना भी लगाया

Edited By: हिमाचल एक्सप्रेस डेस्क
अपडेटेड: 3 weeks ago IST

दुराचार के आरोपी पर दोष सिद्ध होने पर अदालत ने पांच साल के कठोर कारावास और 57500 रुपए जुर्माने की सजा सुनाई है। यह सजा अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश घुमारवीं अमन सूद की अदालत ने आरोपी विशाल चौहान निवासी लंजता को सुनाई। उप जिला न्याय वादी उमेश शर्मा ने यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि पीड़िता की लिखित शिकायत पर भराड़ी थाना पुलिस ने भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं के तहत प्राथमिकी दर्ज की। जिसमें पीड़िता ने आरोप लगाया कि 20 अगस्त 2014 को जब वह घर जा रही थी तो करीब 7 बजे दोषी उसके पीछे-पीछे चलने लगा और उसका रास्ता रोक कर उसका नाम पूछने लगा। पीड़िता के नाम ना बताने पर दोषी ने वापस आकर उसका हाथ पकड़ लिया और मोबाइल छीन लिया व पीड़िता से दोस्ती और शादी करने के लिए कहने लगा। पीड़िता ने आरोप लगाया कि उसके मना करने पर दोषी उसका मुंह बंद कर उठाकर समीप के जंगल में ले गया और इस घिनौनी हरकत को अंजाम दिया। पीड़िता ने घटना के बारे में अपने परिवार को घटना की जानकारी दी तथा अपने माता-पिता के साथ भराड़ी थाना ने प्राथमिकी दर्ज करवाई। अभियोजन पक्ष की ओर से कुल 8 गवाह पेश किए।

अभियोजन पक्ष की ओर से जिला न्याय वादी विनोद भारद्वाज व उप न्याय वादी उमेश कुमार शर्मा ने मामले की पैरवी की। उन्होंने बताया कि अदालत ने आरोपी को भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं के तहत दोषी करार देते हुए भारतीय दंड संहिता की धारा 376 ,511 के तहत 5 वर्ष के कठोर कारावास वह 50000 जुर्माना धारा, 354 डी के तहत 3 वर्ष के कठोर कारावास व 5000 जुर्माना, धारा 506 के तहत 2 वर्ष के कठोर कारावास व 1000 जुर्माना, धारा 341 के तहत 1 माह के साधारण कारावास व 500 जुर्माना तथा भारतीय दंड संहिता की धारा 323 के तहत 6 माह के साधारण कारावास व 1000 जुर्माने की सजा सुनाई सभी सजाएं एक साथ चलेंगी।

Subscribe Our Channel for latest News:

Loading...

loading...

Loading...

अन्य ख़बरें