Loading...

महादेव गौशाला मे दर्जनों गोवंश की हुई मौत, सैकड़ों गोवंश की हालत गंभीर

Edited By: सुरिन्द्र सिंह सोनी,नालागढ़
अपडेटेड: 2 weeks ago IST

उद्योगिक क्षेत्र नालागढ़ में सामने आया एक दिल दहला देने वाला मामला जहरीला पदार्थ खाने से दर्जनों गोवंश की हुई मौत और सैकड़ों गोवंश मरने की कगार पर मिली जानकारी के अनुसार औद्योगिक क्षेत्र नालागढ़ से स्वारघाट रोड पर महादेव खंड के समीप निर्मित शिव शंकर गौशाला कि लगभग सैकड़ों गोवंश कुछ जहरीला पदार्थ खाने के बाद से  एक एक करके मरने लगी है जिनकी गिनती दर्जनों में पहुंच चुकी है और साथ ही आस-पास के गांव के कुछ लोगों के भी मवेशी जहरीला घास खाने के कारण मर चुके हैं वही गौशाला के प्रधान दौलतराम का कहना है कि उनकी गौशाला में तकरीबन 700 के करीब  गोवंश है जिनमें से तकरीबन 100 के करीब गोवंश गौशाला से बाहर चराने के लिए ले जाई जाती है  किसी शरारती तत्व द्वारा घास में जहरीला पदार्थ चिल्का होने के चलते  जैसे ही मवेशियों द्वारा वह घास खाया गया उसी समय मवेशियों की तबीयत खराब  होने लगी और दो तो  वही मौके पर ही  मृत हो गई  जबकि 3 गए रास्ते में आते उस वक्त  और दो गाय  गौशाला में उपचार के दौरान उनकी मौत हो गई गौशाला प्रबंधकों द्वारा तुरंत  सरकारी हस्पताल से  डॉक्टरों को बुलाया गया और मवेशियों का इलाज शुरू कर दिया गया है वही प्रधान ने बताया कि  आसपास के  गांव के भी कई मवेशी  जहरीला घास खाने से मरे हैं उन्होंने प्रशासन और सरकार से मांग की है कि जिस भी व्यक्ति द्वारा यह जहरीला पदार्थ घास में मिलाया गया था उसकी छानबीन होनी चाहिए और आरोपियों को कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए वही देखा जाए तो हिमाचल सरकार अपने भाषणों में हिमाचल को को जैविक खेती की ओर बढ़ावा देने की बात तो करते हैं मगर जमीनी स्तर पर लोगों में सही जागरूकता ना होने के कारण आज भी जहरीले पदार्थ और जहरीले स्त्रियों का इस्तेमाल फसलों को उगाने के लिए किया जा रहा है जिससे आबोहवा दूषित होती जा रही है और अगर सरकार द्वारा जल्दी इस और कड़े कदम नहीं उठाए गए तो मवेशियों के साथ-साथ आने वाले समय में लोगों को भी अपनी जान से हाथ धोना पड़ सकता है अब देखना है कि सरकार सिर्फ भाषणों तक कि इन मुद्दों पर सीमित है या जमीनी स्तर पर भी योजनाओं को लागू करवा पाते हैं.

 

Subscribe Our Channel for latest News:

Loading...

loading...

Loading...

अन्य ख़बरें