Loading...

समाज तथा देश को विकास की नई बुलंदियों तक ले जाने में महिलाओं की भूमिका अग्रणी: डा0 डेजी ठाकुर

Edited By: रजनीश शर्मा
अपडेटेड: 2 months ago IST

महिला एवं बाल विकास विभाग हमीरपुर की ओर से   बचत भवन में जागरूकता कार्यशाला का आयोजन किया गया जिसमें विभिन्न पंचायती राज संस्थाओं तथा आंगनवाड़ी केन्द्रों से 200 से भी अधिक महिलाओं ने भाग लिया। इस कार्यक्रम में हिमाचल प्रदेश राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष डा0 डेजी ठाकुर ने बतौर मुख्यातिथि शिरकत की जबकि राज्य बाल अधिकार संरक्षण की अध्यक्ष वंदना योगी विशेष अतिथि के रूप में उपस्थित रहीं। 
        डा0 डेजी ठाकुर ने कहा कि  महिलाएं समाज की धुरी हैं तथा समाज तथा देश को विकास की नई बुलंदियों तक ले जाने में महिलाएं अग्रणी भूमिका निभा रही हैं। उन्होंने कहा कि जागरूकता शिविरों का मुख्य उद्देश्य महिलाओं को विभिन्न प्रकार की जानकारी प्रदान कर सक्षम बनाना है ताकि वह एक सशक्त समाज के निर्माण में अपनी अहम भूमिका निभा सकें। 
      उन्होंने कहा कि सितम्बर माह पूरे देश में पोषण माह के रूप में मनाया जा रहा है। हर मां और बच्चा स्वस्थ होगा तभी देश स्वस्थ एवं सशक्त बन सकता है। ईसलिए गर्भवती  तथा धात्री महिलाओं को अपने आहार का विशेष ध्यान रखना होगा। अपने भोजन में हर प्रकार के पोषक तत्वों को शामिल करना होगा ताकि  मां  और बच्चा दोनों का  स्वास्थ्य बेहतर हो सके। उन्होंने बताया कि लोगों में बेटियों के प्रति सकारात्मक सोच बढ़ी है लेकिन बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना के अंतर्गत अभी बहुत अधिक कार्य करने की आवश्यकता है। उन्होंने महिलाओं का आह्वान किया कि वह लडक़ा-लडक़ी दोनों को समान समझें तथा उनके बेहतर पालन-पोषण तथा शिक्षा की ओर विशेष ध्यान दें ताकि वह शारीरिक तथा मानसिक रूप से सुदृढ़ बन सकें। महिलाएं श्रेष्ठ हैं, विशेष हैं, वह  हर क्षेत्र में पुरूष के साथ कंधे से कंधे मिलाकर चल रही हैं। राजनीति, शिक्षा जगत से लेकर अंतरिक्ष तक महिलाओं ने अपनी शक्ति का लोहा मनवाया है। 
    उन्होंने कहा कि महिलाएं ठान लें तो  समाज की मूल व्यवस्था में बदलाव ला सकती हैं। उन्होंने महिलाओं को उनके अधिकारों के बारे में भी विस्तार से जानकारी दी तथा उन्हें इस कार्र्यशाला से प्राप्त  जानकारी को अपने परिवार, आस-पड़ौस तथा रिश्तेदारी में सांझा करने को कहा गया ताकि समाज का प्रत्येक व्यक्ति जागरूक बनकर समाज के विकास में अपना योगदान दे सके। 
     इस अवसर पर डा0 डेजी ठाकुर ने बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना के तहत हाल ही में पैदा हुई बच्चियों की 27 माताओं को बेबी किट प्रदान कर सम्मनित किया। 
    राज्य महिला आयोग की सदस्य इंदु लेखा ने कहा कि केन्द्र तथा प्रदेश सरकार की प्रत्येक योजना को लोगों तक बेहतर ढंग से पहुंचाने का महिलाएं उत्तम माध्यम हैं। श्रेष्ठ भारत के निर्माण में केवल मातृ शक्ति ही अहम भूमिका निभा सकती है। स्टैंड अप तथा स्टार्ट अप योजनाएं  महिलाओं के सशक्तिकरण को लेकर चलाई गई हैं।  उन्होंन कहा कि महिलाओं का अपने अधिकारों के प्रति जागरूक होना अति आवश्यक है। इससे वह समाज में व्याप्त कुरीतियों को जड़ से समाप्त करने में अहम भूमिका निभा सकती हैं। 
         इस अवसर पर एसडीएम डा0 चिरजी लाल ने मुख्यातिथि का स्वागत किया तथा इस एक दिवसीय कार्यशाला के उद्देश्य  को लेकर अपने विचार व्यक्त किए। उन्होंने महिलाओं से आह्वान किया कि अपने अधिकारों के प्रति जागरूक बनें तथा एक स्वस्थ व सशक्त समाज की संरचना के लिए समाज में बेटियों के प्रति सकारात्मक सोच पैदा करने में आगे आएं। 
      सीडीपीओ कल्याण चंद ने  महिलाओं के कल्याण के लिए चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं की विस्तार से जानकारी दी। शिक्षा विभाग,  स्वास्थ्य विभाग,आयुर्वेदा, उद्यान, कृषि, उद्योग, नेहरू युवा केन्द्र, खाद्य नागरिक आपूर्ति विभागों की ओर से  भी सम्बंधित अधिकारियों ने विभिन्न  जन कल्याणकारी योजनाओं की विस्तारपूर्वक जानकारी प्रदान की। 
           इससे पहले एसडीएम डा0 चिरंजी लाल ने मुख्यातिथि को शॉल, टोपी भेंट कर सम्मानित किया। जिला कार्यक्रम अधिकारी तिलक राज आचार्य ने राज्य बाल अधिकार  संरक्षण अध्यक्ष वंदना योगी तथा सदस्य राज्य महिला आयोग  इंदु लेखा जबकि सीडीपीओ कल्याण चंद ठाकुर ने डा0 भावना सदस्य सचिव राज्य महिला आयोग एवं संयुक्त निदेशक महिला एवं बाल विकास तथा सहायक निदेशक डा0 सीमा कटोच को शॉल तथा टोपी भेंट कर सम्मानित किया। 
       इसके बाद हमीर भवन में पुलिस विभाग की ओर से भी महिला तथा पुरूष  पुलिस अधिकारियों तथा कर्मचारियों के लिए जागरूकता कार्यशाला का आयोजन किया गया जिसकी अध्यक्षता  हिमाचल प्रदेश राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष डा0 डेजी ठाकुर ने की।  इस जागरूकता कार्यशाला में जिला भर के पुलिस स्टशनोंं तथा चौकियों से आए पुलिस अधिकारियों तथा प्रभारियों ने भाग लिया।  कार्यशाला में  विभिन्न पुलिस स्टेशनों में महिलाओं से सम्बंधित प्रकरणों में शिकायतों के तुरंत , बेहतर तथा सौहार्दपूर्ण निपटारे को लेकर विभिन्न कानूनी पहलुओं की विस्तार से जानकारी प्रदान की गई।  स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग की ओर से डा0 अंकित चौधरी ने महिलाओं के विरूद्ध हिंसा को लेकर उनके कारणों तथा पुलिस की उसमें भूमिका के बारे में विस्तार से जानकारी दी। 
    इस अवसर पर डीएसपी रेणु ठाकुर, कानून अधिकारी अनुज वर्मा  तथा विभिन्न पुलिस थानों से आएं पुलिस अधिकारी भी मौजूद  थे। 

 

Subscribe Our Channel for latest News:

Loading...

loading...

Loading...

अन्य ख़बरें