Loading...

नवरात्र शुरू होने वाले हैं पर कछुआ चाल में चल रही प्रशासन के विकास कार्य

Edited By: पंकज सोनी
अपडेटेड: 2 months ago IST

शक्तिपीठ ज्वालामुखी मंदिर में 29 सितम्बर से नवरात्र शुरू होने वाले हैं, वही प्रशासन के ढुल मूल रवैया के कारण विकास कार्य कछुआ चाल से चल रहे हैं।
यहाँ मुख्यता 6 माह पूर्व मन्दिर मार्ग पर एडीबी द्वारा कैनोपी लगाने का कार्य शुरू किया गया था, पर आज दिन तक यह कार्य पूरा नही हो पाया।
अब एडीबी द्वारा मुख्य मंदिर मार्ग को खोदा जा रहा है, ताकि इस पर इंटर लॉक टाइल लगाई जा सके जबकि नवरात्रो को केबल 10 दिन बचे हैं।स्थानीय दुकानदारों का कहना है की जो यह इंटर लॉक टाइल डाली जा रही है वह मंदिर मार्ग के लिए उपयुक्त नहीं है इनसे किसी दुर्घटना का हमेशा अंदेशा बना रहेगा अतः इसके स्थान पर कंक्रीटरूपी टाइल पड़नी चाहिए |जिससे की श्रदालुओ को आने जाने में कोई कठिनाई नहीं होगी |
यदि दस  दिन में कार्य पूरा न हो पाया तो श्रद्धालुओं को काफी परेशानी हो सकती है।
इन सबके कारण स्थानीय दुकानदारों में भारी रोष है।
दुकानदार अमित शर्मा, राजकुमार, प्रकाश चन्द, त्रिलोक, संजय, लव, विजय, विशाल, कंचन, रिषि आदि का कहना है कि 10 दिन बाद नवरात्र आ रहे हैं और साल के सबसे बड़े नवरात्रो में ही चार पैसे कमाए जाते हैं, ऐसे में अब मार्ग को उखाड़ा जा रहा है, पहले भी 6 माह तक कैनोपी का कार्य चलता रहा पर पूर्ण नही हुआ और न ही नालियां बनाने का कार्य पूरा हो पाया है।
जिस बजह से दुकानदार प्रतिदिन धूप व बारिश का सामना कर रहे हैं।
उन्होंने प्रशासन से मांग की है कि नवरात्रो से पूर्व जल्द कार्य समाप्त कर लिया जाए अन्यथा सर्दियों में यह कार्य किया जाए ताकि उनकी रोजी रोटी चलती रहे और कैनोपी का कार्य भी पूरा किया जाए।
कछुआ चाल से  हो रहे काम के कारण  उनका व्यवसाय प्रभावित हो रहा है।

क्या कहते हैं मन्दिर सहायक आयुक्त
मन्दिर सहायक आयुक्त व एस डी एम अंकुश शर्मा का इस बारे में कहना है कि एडीबी ठेकेदार को पिछले नवरात्रों में ही निर्देश दिए गए थे कि कार्य जल्द पूर्ण किया जाए,यदि काम में फिर भी कोई कोताही बरती जा रही है तो इनसे बात की जाएगी और फीडबैक लिया जाएगा कि कार्य इतनी धीमी गति से क्यों चला है।

Subscribe Our Channel for latest News:

Loading...

loading...

Loading...

अन्य ख़बरें