Loading...

माननीयों के वेतन- भत्ते बढ़ाने को एक जुट हुआ सत्ता पक्ष- विपक्ष, सिंघा ने किया विरोध

Edited By: हिमाचल एक्सप्रेस डेस्क
अपडेटेड: 3 weeks ago IST

माननीयों के वेतन व भत्ते बढ़ाने को लेकर पेश किए गए बिल पर आज सदन में सत्ता- पक्ष व विपक्ष एक जुट दिखा। केवल माकपा विधायक राकेश सिंघा ने बिल का विरोध किया। कई सदस्यों ने तो गाड़ी व मुख्य सचिव के बराबर वेतन की मांग कर डाली। आज सदन में विधानसभा सदस्यों के भत्ते और पेंशन संशोधन विधेयक 2019, अध्यक्ष और उपाध्यक्ष वेतन (संशोधन) विधेयक 2019 व मंत्रियों के वेतन और भत्ता संशोधन विधेयक सर्मसम्मति से पारित किए गए। हालांकि माकपा विधायक राकेश सिंघा ने इस का विरोध किया लेकिन बाद में इस पास कर दिया गया। इतना ही नहीं कांग्रेस सदस्य सुखविंद्र सिंह सुक्खू, हर्षवर्धन चौहान, राम लाल ठाकुर ने इस राशि को कम बताया और अधिक सुविधाओं की मांग कर डाली।

माननीयों को वेतन व भत्ते बढ़ाने संबंधी विधेयक शुक्रवार को पेश किए गए थे , जिन पर आज चर्चा होनी थी। चर्चा में भाग लेते हुए माकपा विधायक राकेश सिंघा ने माननीयों के पेंशन भत्तों के बिल का विरोध करते हुए कहा कि सरकार जब कर्जे में डूबी है ऐसे में इन बिलों को वापस ले लिया जाए। राकेश सिंघा ने कहा कि कांग्रेस व बीजेपी दोनों प्रदेश कीआर्थिक स्थिति का रोना रोते रहते है। लेकिन जब वेतन-भत्तों की बात आती है तो दोनों ही एकजुट हो जाते हैं। इसी बीच वेतन भत्ता बिल को पास करना उचित नहीं है।

Subscribe Our Channel for latest News:

Loading...

loading...

Loading...

अन्य ख़बरें