Loading...

स्कूल नहीं पहुंचे तो सगे भाइयों ने रच दिया अपहरण का ड्रामा, पुलिस की करवाई मशक्कत

Edited By: हिमाचल एक्सप्रेस डेस्क
अपडेटेड: 3 months ago IST

प्राथमिक स्कूल में पढ़ रहे दो सगे भाइयों ने अपने ही अपहरण की कहानी बनाकर परिजनों और पुलिस को सकते में डाल दिया। मिली जानकारी के मुताबिक एक निजी स्कूल में पढ़ने वाले दो स्टूडेंट्स अपने गांव से स्कूल के लिए निकले, लेकिन जैसे ही तहसील मुख्यालय के नजदीकी क्षेत्र स्थित स्कूल गेट पर पहुंचे तो न जाने क्या मन में आया और उन्होंने स्कूल के अंदर प्रवेश नहीं किया।

स्कूल के बाहर एक दुकानदार के पास गए और उससे दस रुपए उधार लेकर वापस अपने घर को चल दिए। जैसे ही उक्त विद्यार्थी अपने घर पहुंचे तो उनके परिजन हक्के बक्के रह गए और उनके वापस लौटने का कारण पूछा तो उन्होंने जो कहानी गढ़ी उसे सुनकर परिजनों के रौंगटे खड़े हो गए। दोनों छात्रों ने बताया कि उन्हें कुछ अज्ञात लोग स्कूल के पास से उनके ऊपर पाउडर छिड़ककर एक एप्लाइड फॉर गाड़ी में बिठा कर ले गए और दौलतपुर चौक के पास पहुंचकर वो किसी तरह उनके चुंगल से बचकर वापस घर पहुंचे। बच्चों पर विश्वास करके परिजन उन्हें गगरेट के सरकारी हॉस्पिटल में ले गए, जहां पाउडर छिड़काव की बात सुनकर डॉक्टर्स ने पुलिस को सूचना दी।

इसके बाद दोपहर को दोनों भाई घर पहुंच गए। उन्होंने पूरी कहानी घरवालों को बताई। इससे परिवार वालों के हाथ-पांव फूल गए। यह बात आग की तरह फैल गई। बड़ी संख्या में लोग बच्चों के घर पहुंच गए। कुछ लोग फोन पर हालचाल पूछने लगे। इस बीच किसी ने इस बारे में पुलिस को सूचना दे दी। मामला पुलिस में पहुंचने पर इन बच्चों का मेडिकल करवाया गया। इसमें किसी भी तरह का कोई नशीला पदार्थ न देने की पुष्टि हुई। उसके बाद पुलिस ने सीसीटीवी की फुटेज भी देखी। पुलिस जांच में ऐसी कोई भी घटना होने का कोई भी सबूत नहीं मिला। इसके बाद बच्चों ने अध्यापिका के पास ये खुलासा किया कि वो निजी बस से आए और स्कूल से आगे शनि मंदिर के पास जाकर उतर गए। वहां एक दुकानदार से दस रुपये लिए और वापस आ गए। 

उधर, गगरेट थाना प्रभारी हरनाम सिंह ने बताया कि दो स्कूली स्टूडेंट्स की मनगढ़ंत कहानी की वजह से पुलिस को कड़ी मशक्कत करनी पड़ी। उन्होंने आमजनमानस से भी आह्वान किया है कि अफवाहों से बचें, विशेषकर अफवाहों के नाम पर सोशल मीडिया में सनसनी न फैलाएं और अगर कोई अनजान व्यक्ति दिखता तो पुलिस को सूचना करें न कि अफवाहें फैलाएं।

Subscribe Our Channel for latest News:

Loading...

loading...

Loading...

अन्य ख़बरें