Loading...

नालागढ़ के जगातखना झूला पुल के पास चिकनी नदी में जहरीले पानी से लाखों मछलियां की मौत

Edited By: सुरिन्द्र सिंह सोनी,नालागढ़
अपडेटेड: 2 months ago IST

औद्योगिक क्षेत्र नालागढ़ के तहत जगातखाना झूला पुल के पास चिकनी नदी में जहरीले पानी के कारण लाखों मछलियों के मरने का मामला सामने आया है घटना शुक्रवार देर रात की बताई जा रही है जब क्षेत्र में बारिश हो रही थी तो बारिश के कारण नदी का जलस्तर बढ़ गया और नालागढ़ के ढाणा में कई उद्योगों द्वारा बारिश की आड़ में केमिकल युक्त जहरीला पानी नदी में खुलेआम छोड़ दिया जहरीला पानी नदी में आने के कारण चिकनी नदी में जितनी भी मछलियां थी वह सभी मछलियां जहरीले पानी के कारण मर गई । ऐसा पहली बार नहीं हुआ है इससे पहले भी कई बार ऐसी मछलियों के मरने की घटनाएं हो चुकी है लेकिन बार बार विभाग को शिकायतों के बाद भी नियमों को ताक पर रखकर सरेआम नदियों में जहरीला पानी छोड़ने वाले उद्योगों के खिलाफ कोई भी कार्रवाई अमल में नहीं लगती जाती है हालांकि जब कोई घटना होती है तो संबंधित विभाग मौके का जायजा लेकर कार्रवाई के नाम पर लीपापोती तो करते हैं लेकिन उसके कारण नदियों में दूषित पानी छोड़ने वालों के हौसले और बढ़ जाते हैं और आए दिन वह इस तरह की घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं अब यह देखना होगा कि विभाग अब भी इन उद्योगों पर कोई कार्रवाई करता है या नहीं या इसी तरह आने वाले दिनों में भी मछलियों के मरने की घटनाएं जारी रहती है।

इस बारे में जब हमने ग्राम पंचायत डांग के पूर्व विधायक पूर्व पंचायत प्रधान जगदीश रानी से बात की तो उन्होंने कहा है कि वह जगत कान्हा पुल के नीचे से अपनी कार से अपने घर की ओर जा रहा था को जैसे ही वह नदी के पास पहुंचा तो काफी मात्रा में बदबू भाई तो जब वह नीचे उतर कर देखा तो नदी के किनारे लाखों की तादात में मछलियां मरी पड़ी थी उनका कहना है कि मछलियां मरने का कारण क्षेत्र के उद्योगों से दूषित पानी नदियों में खुला छोड़ने के कारण हुई है उन्होंने कहा कि राजपुरा नांगल और आदि उद्योगों द्वारा सरेआम नियमों को ताक पर रखकर केमिकल युक्त जहरीला पानी नदी में खुला छोड़ा जा रहा है जिसके कारण जहां मछलियों मरने की घटनाएं लगातार आ रही है और स्थानीय लोग भी गंभीर बारे में की चपेट में आ चुके हैं उन्होंने सीएम जयराम ठाकुर को मामले में जल्द से जल्द उद्योगों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है।

Subscribe Our Channel for latest News:

Loading...

loading...

Loading...

अन्य ख़बरें