Loading...

बेटी के सहारे जी रहे मां-बाप का सहारा बने समाजसेवी संजय शर्मा

Edited By: सुरेन्द्र मिन्हास, फतेहपुर
अपडेटेड: 2 weeks ago IST

Loading...

सरकार ने  गरीबों के लिए बेशक कितनी भी योजनाएं चला रखी हों किंतु वह गरीबों तक पहुंच रही है या नहीं इस बारे प्रशासन का रवैया भी हमेशा उदासीन ही रहा है।ऐसा ही एक गरीबी में जी रहे परिवार का मामला खंड फतेहपुर की करीबी पंचायत कुटवासी का है। डंडे के सहारे पर टिके मकान की हालत देख उनकी मौजूदा स्थिति किसी से छिपी नहीं है।किंतु समस्त प्रशासन नजदीक होने के बाबजूद अभी तक समस्त सरकारी योजनाओं से बंचित रहे परिवार की स्थिति देख प्रशासन की कार्यप्रणाली भी उदासीन नजर आ रही है।

वहीं बुधवार को जब समाजसेवी संजय शर्मा फतेहपुर में गरीब परिबार तुला राम व उनकी पत्नी श्रेष्ठा देवी(मूक-बधिर) से मिलने पहुँचे त़ो उन्होंने गरीब परिबार की हालत को देखकर सरकार और प्रशासन को जम कर कोसा उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा बनाई गई गरीब परिवारों के लिए विकसनात्मक नीतियां आखिर कब तक पहुँचेगी।उन्होंने कहा कि मकान एक डंडे के सहारे पर टिका है और कभी वह डंडा जरा भी हिला तो कोई बडी अनहोनी भी घट सकती है।ऐसे में प्रशासन क्या बडी घटना होने के इंतजार में है।घर में शौचालय तक भी नहीं है।और बेटी रीना देवी(35) प्राईवेट स्कूल में पढाकर बुजुर्ग माता का सहारा बनी हुई है।इस मौके पर संजय शर्मा ने परिवार के लिए दो साल का राशन भी दिया।  इस अबसर पर कमल ,रमेश कालिया, विशाल भी उनके साथ मौजूद रहे।

Subscribe Our Channel for latest News:

loading...

Loading...

अन्य ख़बरें