Loading...

न जनता से किये वायदे हुए पूरे, न ही मंडी की आवाज बन पाये सांसद: आश्रय शर्मा

Edited By: विजय शर्मा
अपडेटेड: 7 months ago IST

मंडी लोकसभा क्षेत्र से कांग्रेस प्रत्याशी आश्रय शर्मा ने आरोप लगाते हुए कहा है कि हिमाचल की जनता को केंद्र की मोदी सरकार ने झूठ बोल के ठगा है। प्रधानमंत्री खुद कई बार हिमाचल आए, लेकिन उन्होंने एक भी सौगात सूबे को नहीं दी। इस तरह मंडी के सांसद ने भी पांच साल में मंडी लोकसभा क्षेत्र की जनता को अपनी जुमले बाजी से ठगा है। सांसद ने अपने कार्याकाल में जो भी वादे जनता से किए वह आज तक पूरे नही कर पाए है। उन्होंने अपने संबोधन आरोप लगाते हुए कहा कि वायदे पूरे करना तो दूर सांसद ने मंडी की आवाज संसद में उठाने तक का कष्ट नहीं किया। वीरवार को आश्रय शर्मा ने कुल्लू जिला के मनाली विधानसभा क्षेत्र में चुनाव प्रचार कर विभिन्न स्थानों पर सभाओं को संबोधित किया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि पिछले करीब डेढ़ साल में मंडी लोकसभा क्षेत्र में सड़कों की हालत बेहद दयनीय हो कर रह गई है। किरतपुर से लेकर मनाली तक फोरलेन का काम पूरी तरह से ठप्प पड़ा हुआ है। सांसद आदर्श ग्राम योजना के तहत गोद लिये मनाली गांव को मनू धाम बनाने का वायदा किया गया था। लेकिन यहां पर पिछले पांच साल में फूटी कौड़ी भी खर्च नहीं की गई। उन्होंने सांसद रामस्वरूप शर्मा पर पर आरोप लगाते हुए कहा कि सांसद अपने 5 साल के कार्यकाल की एक भी उपलब्धि जनता को नहीं बता पा रहे है। कभी वह सीएम के नाम पर तो कभी पीएम के नाम पर वोट मांग रहें है। जो उनकी नाकामियों को स्वयं ही उजागर करता है। उन्होंने कहा कि आज मैं जनता के बीच अपने दादा पंडित सुखराम व पिता अनिल शर्मा की पहचान से आया हूं, जनता का आशीर्वाद मिला तो मैं 5 साल बाद अपनी खुद की पहचान के साथ जनता के बीच आऊंगा। उन्होंने कहा हिमाचल के विकास में जो योगदान छह बार के मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने दिया है, उसी की बदौलत आज उन्हें विकास पुरुष के रुप में जाना जाता है। मनाली में पर्यटन को विश्व स्तरीय बनाने के लिए अपार संभावनाएं है। सांसद बनने पर वह यहां पर आधारभूत ढांचे को और सुदृढ़ करेंगे। जिससे यहां के युवाओं को पर्यटन के माध्यम से रोजगार के और अधिक अवसर उपलब्ध हो सके। उन्होंने कहा कि यहां के ग्रामीण क्षेत्र में रहने वाले ग्रामीणों की आय का मुख्य स्त्रोत बागवानी है लेकिन विदेश से आ रहे सेब, अनार, नाशपती, चैरी सहित अन्य फलों से बागबानों को मंडी में उनके उत्पाद के उचित दाम नहीं मिल पा रहे है। वह सांसद बनने पर विदेशों से आने वाले फलों को आयात करने पर पांबदी लगाने के लिए संसद में इस मुद्दे को जोरदार तरीके से उठाएंगे। उन्होंने युवाओ के लिए रोजगार के साधन सृजित करने व 2003 में बंद हुई पैंशन की बहाली करवाने को अपनी पहली प्राथमिकता बताया। इस दौरान उनके साथ भुवनेश्वर गौड, हरीचंद शर्मा, संजीव गुलेरिया, देवेंद्र नेगी, चंद्रसेन ठाकुर, दुष्यंत ठाकुर सहित अनेक वरिष्ठ कांग्रेसजन भी मौजुद रहें।  

Subscribe Our Channel for latest News:

Loading...

loading...

Loading...

अन्य ख़बरें