Loading...

पैतृक गांव जोंघो जगतपुर नालागढ़ पहुंचा शहीद राजेश ऋषि का शव, थोड़ी देर में होगा अंतिम संस्कार

Edited By: सुरिन्द्र सिंह सोनी,नालागढ़
अपडेटेड: 8 months ago IST

किन्नौर को नामज्ञा डोगरी में हिमस्खलन में दबे पांच जवानों में से एक राजेश ऋषि का तिरंगे में लिपटा शव उनके पैतृक गांव पहुंच गया है। 25 वर्षीय राजेश ऋषि पुत्र रणजीत सिंह निवासी जोंघो जगतपुर नालागढ़, सोलन आज कुछ देर बाद शहीद का अंतिम संस्कार होना है। शहीद का शव शुक्रवार को 11 दिन बाद बरामद किया गया था। उनके शव को हवाई मार्ग से नालागढ़ पहुंचाया जाना था, लेकिन मौसम खराब होने के कारण शव सड़क मार्ग से जोंघो जगतपुर पहुंचाया।

बता दें कि शिपकिला बॉर्डर से लगते नामज्ञा डोगरी के पास 20 फरवरी को ग्लेशियर खिसकने से नियमित गश्त पर निकले जम्मू-कश्मीर राइफल्स के 16 सैनिकों में से छह बर्फ में दब गए थे। हादसे में दबे हवलदार राकेश कुमार (41) को बाहर निकाल लिया गया पर वह शहीद हो गए। उसके बाद से लगातार सर्च ऑपरेशन चल रहा है। 11वें दिन शनिवार को शहीद जवान राजेश ऋषि का शव बरामद हुआ था। अभी भी चार जवानों का पता नहीं लग पाया है और उनकी तलाश के लिए सर्च ऑपरेशन अभी भी जारी है।

Subscribe Our Channel for latest News:

Loading...

loading...

Loading...

अन्य ख़बरें