Loading...

गांव में आई थी बारात, सिरफिरे ने पेयजल टैंक में घोल दिया कीटनाशक, फिर जो हुआ

Edited By: हिमाचल एक्सप्रेस डेस्क
अपडेटेड: 9 months ago IST

आईपीएच के टैंक में जहर मिलाए जाने से हड़कंप मच गया है। मामला करसोग उपमंडल के तहत पड़ने वाले गांव मगरू का है। पांगणा क्षेत्र के मशोग गांव में शरारती तत्वों ने पेयजल योजना के स्टोरेज टैंक में कीटनाशक मिला दिया। गनीमत रही कि स्थानीय लोगों और पंचायत उपप्रधान की सजगता से बारातियों समेत सैंकड़ों लोगों व स्कूली बच्चों को मौत के मुंह में जाने से बचा लिया गया। जानकारी के अनुसारमशोग गांव के परस राम के घर में उसकी बेटी को शादी थी तथा शुक्रवार को बारात आई हुई थी। बारातियों के स्वागत के बाद रात को जब बारातियों को खाना परोसने का समय आया तो कामकाज में जुटे गंगा राम को पानी से बदबू आ गई। पानी में कोई जहरीला पदार्थ मिलने की आशंका को देखते हुए वह कुछ अन्य ग्रामीणों के साथ पेयजल योजना के जल भंडारण टैंक तक पहुंच गया। वहां पर टैंक के बाहर कीटनाशक दवा के पैकेट पड़े हुए दिखाई दिए। इस दौरान करीब 11 बजे स्थानीय पंचायत उपप्रधान को दूरभाष पर मामले की सूचना दी गई। पंचायत उपप्रधान विकास कुमार ने पेयजल टैंक से होने वाली आपूर्ति को बंद करवा कर लोगों को पानी का सेवन न करने का आग्रह किया। जिसके बाद शनिवार को पुलिस और आईपीएच विभाग से अधिकारियों की टीम ने मौके का दौरा किया।

पुलिस ने आईपीसी की धारा 277 के तहत अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है। करसोग के डीएसपी अरुण मोदी का कहना है शरारती तत्व द्वारा पानी के टैंक में सेब में प्रयोग की जाने वाली कीटनाशक दवा मिलाए जाने का मामला सामने आया है। लोगों की शिकायत के बाद मौके का निरीक्षण किया गया और इस दौरान टैंक के समीप कीटनाशक दवा का खाली पैकट पाया गया। उधरए चुराग सब डिवीजन आईपीएच विभाग के सहायक अभियंता हंसराज का कहना है कि पानी के सैंपल भर कर जांच के लिए चंडीगढ़ भेज दिया है। याद रहे कि इस टैंक से करीब 40 परिवारों को पानी दिया जाता है। आईपीएच टैंक को खाली करने के बाद साफ कर दिया है। पुलिस ने मौके से छानबीन के दौरान कीटनाशक दवा का फोटाटॉक्स 10 जी का पाउच बरामद किया। बताया जा रहा है कि ये दवा सेब में कीटनाशक के तौर पर प्रयोग की जाती है। मामले की सच्चाई पुलिस की छानबीन पूरी होने और सैंपल रिपोर्ट मिलने के बाद ही सामने आएगी।

Subscribe Our Channel for latest News:

Loading...

loading...

Loading...

अन्य ख़बरें