23 साल का जवान सीमा पर हुआ शहीद, राजकीय सम्मान के साथ अंत्येष्टि

Edited By: हिमाचल एक्सप्रेस डेस्क
अपडेटेड: one year ago IST

लेह से करीब 300 किलोमीटर दूर बर्फीली चोटियों पर ड्यूटी के दौरान प्राण त्यागने वाले ददाहू के जवान विनोद कुमार का पार्थिव शरीर मंगलवार शाम उनके पैतृक गांव पहुंचा। गिरी नदी के तट पर पूरे राजकीय सम्मान के साथ बहादुर बेटे को अंतिम विदाई दी गई। इस दौरान पूरा ददाहू क्षेत्र विनोद अमर रहे के नारों से गूंज उठा। छोटे भाई नितेश ने अपने बड़े भाई को मुख्याग्नि दी और दिवंगत जवान पंचतत्व में विलीन हो गया। इससे पहले जैसे ही सेना के जवानों द्वारा पार्थिव शरीर को ददाहू लाया गया, तो पूरा क्षेत्र विनोद कुमार अमर रहे व भारत मां की जय के नारों से गूंजा। सिरमौर के इस सपूत की अंतिम विदाई में भारी संख्या में लोग पहुंचे।

अचानक बेटे की मौत से पूरा परिवार सदमे हैं और पैतृक गांव में शोक की लहर है, लेकिन हर कोई विनोद पर फक्र भी महसूस कर रहा है। 16 जून 1995 को जन्मे दिवंगत विनोद लेह से करीब 300 किलोमीटर दूर बर्फीली चोटियों पर देश की रक्षा कर रहा था। वह परिवार का इकलौता सहारा था। बचपन से ही देश की सेवा का जज्बा उसमें कूट-कूट कर भरा था। बता दें कि 26 जनवरी की रात को ही 23 वर्षीय अविवाहित विनोद ने हजारों फीट की उंचाई पर देश की रक्षा में अपने प्राण त्याग दिए थे।

loading...

Loading...

अन्य ख़बरें